डॉ. आंबेडकर के बारे में नेल्सन मंडेला ने क्या कहा है?

द. अफ्रीका के भूतपूर्व राष्ट्रपति तथा अश्वेतों के नेता नेल्सन मंडेला ने भारतीय संविधान के निर्माता तथा अछूतों के नेता डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के बारे में अपने विचार प्रकट किए हैं।

 Read this article in English 

 या लेखाला मराठीत वाचा 

Nelson Mandela on Dr Ambedkar

Nelson Mandela on Dr Ambedkar
डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर और नेल्सन मंडेला

दक्षिण अफ़्रीकाई नेता डॉ. नेल्सन मंडेला (1918-2013) को दुनिया भर में उनके अश्वेतों के उत्थान के लिए कार्य की वजह से पहचाना जाता है और उनके योगदान की सराहना भी की जाती है। वह दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति भी रहे हैं।

डॉ आंबेडकर और मंडेला में काफी समानताएं हैं उनका जीवन उनका संघर्ष उनके विचार तथा अन्य कई मामलों में भी दोनों में समानता ही मिलती है। मंडेला ने भारतीय संविधान के निर्माता तथा अछुतों के उत्थान के लिए कार्य करने वाले डॉ बाबासाहेब आंबेडकर के बारे में जो कहा, वह जानना महत्वपूर्ण है।

What Nelson Mandela said about Dr. Ambedkar

1990 में, वीपी सिंह सरकार ने डॉ बाबासाहेब आंबेडकर और नेल्सन मंडेला दोनों को एक साथ ‘भारत रत्न’ से विभूषित किया। साथ ही मंडेला को शांति का नोबेल पुरस्कार भी मिला है।

आंबेडकर और मंडेला दोनों ही शांति और अहिंसा के पक्षधर थे। मंडेला को महात्मा गांधी से और कभी कबार जवाहरलाल नेहरू से प्रेरित बताया गया है। लेकिन वह बाबासाहब आंबेडकर के कार्य और उनके संघर्ष से भी प्रेरित थे।

लेकिन उन्होंने जिस तरह गांधी को पढ़ा और जाना, उस तरह उन्होंने कभी डॉ आंबेडकर को नहीं पढ़ा! अगर मंडेला को डॉ. आंबेडकर को पढ़ने का समय मिला होता तो मुझे विश्वास है कि वह न केवल आंबेडकर के लंबे संघर्ष की सराहना करते, बल्कि इससे आगे जाकर आंबेडकर के अनुयाई भी बनते।

नेल्सन मंडेला ने डॉ बाबासाहेब आंबेडकर के बारे में जो कहा है, उसे भारतीयों ने जरूर जानना चाहिए।

 

डॉ. आंबेडकर के बारे में मंडेला के विचार

Quote 1 :

12 अप्रैल 1990 को जब भारतीय संसद के सेंट्रल हॉल, नई दिल्ली में डॉ. बाबासाहब आंबेडकर के तैलचित्र का अनावरण किया जा रहा था, तब नेल्सन मंडेला ने बाबासाहब के बारे में कहा था कि,

हम डॉ. आंबेडकर के जीवन और कार्य से प्रेरणा लेकर अपना संघर्ष भी उन्हें आधारों पर चलाएंगे, जिन आधारों पर डॉ. आंबेडकर ने भारत में समाज परिवर्तन का प्रयत्न किया और सफलता पाई।

Nelson Mandela on Dr Ambedkar
Nelson Mandela on Dr Ambedkar

“We will take inspiration from the life and work of Dr. Ambedkar and run our struggle on the basis on which Dr. Ambedkar tried to change the society in India and got success.” – Dr. Nelson Mandela

While the Dr. Ambedkar’s portrait was being unveiled in the Central Hall of the Indian Parliament, New Delhi (12 April 1990)

 

 

Quote 2 :

इसके अलावा, मंडेला ने अपने देश के संविधान को भारतीय संविधान से प्रेरित बताया और साथ ही डॉ आंबेडकर के योगदान की भी सराहना की, जो उन्होंने भारतीय संविधान निर्माण तथा सामाजिक न्याय और वंचितों के उत्थान में दिया था।

मंडेला ने कहा था कि,

“भारत का संविधान दक्षिण अफ्रीका के नए संविधान के लिए एक प्रेरणा का स्रोत बना हैं। हमें आशा है कि भारत के इस महान सुपुत्र के विचार और कार्य हमें हमारा संविधान बनाने में मार्गदर्शक के तौर पर साबित होंगे। डॉ. आंबेडकर का अछुतोंद्धार एवं सामाजिक न्याय की दिशा में किए गए ऐतिहासिक कार्य वास्तव में अत्यंत सराहनीय हैं। दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच एक ॠणानुबंध तैयार हुए हैं। क्योंकि दोनों एक जैसे अन्याय के शिकार है। भारत के शोषित वर्ग के मसिहा की जन्मशति मनाने वाले भारतीयों की समिति के सदस्यों के साथ हमारा मेल-जोल हमारे लिए एक अत्यंत आनंद की घटना हैं।”

Nelson Mandela on Dr Ambedkar

“The Indian Constitution provides inspiration in preparation of a new South African Constitution. We hope that our efforts in formulation of a new constitution will reflect the work and ideas of this great son of India. Dr. Ambedkar’s contribution to social justice and to the upliftment of the oppressed is worthy of emulation.” – Dr. Nelson Mandela


ये भी पढ़े

 

‘धम्म भारत’ पर मराठी, हिंदी और अंग्रेजी में लेख लिखे जाते हैं :


(धम्म भारत के सभी अपडेट पाने के लिए आप हमें फेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *