बौद्ध धर्म से जुड़े 70 रोचक तथ्य एवं महत्वपूर्ण जानकारी

बौद्ध धर्म एक प्राचीन भारतीय धर्म है और आज दुनिया के प्रमुख धर्मों में से एक है। तथागत भगवान बुद्ध ने करीब 2600 वर्ष पूर्व बौद्ध धर्म की स्थापना की थी। इस लेख में हम बौद्ध धर्म (buddhism in hindi) के बारे में कुछ महत्वपूर्ण और रोचक जानकारी जानेंगे। – interesting facts about buddhism

  हा लेख मराठीत वाचा  

interesting facts aabout Buddhism
interesting facts about buddhism

interesting facts about buddhism in hindi  – जानिये बौद्ध धर्म की ये 70 बेहद ख़ास बातें

बौद्ध धर्म एक प्राचीन भारतीय धर्म है और आज दुनिया के प्रमुख धर्मों में से एक है। तथागत भगवान बुद्ध ने बौद्ध धर्म की स्थापना की। बौद्ध धर्म विज्ञान के अनुकूल है और अद्भुत दर्शन है। इस लेख में हम बौद्ध धर्म के बारे में कुछ महत्वपूर्ण और विशेष रूप से रोचक जानकारी जानेंगे।

तो आइए जानते हैं बौद्ध धर्म से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण और रोचक तथ्य… interesting facts about buddhism and gautam buddha

 

Interesting facts about Buddhism and Buddha – बुद्ध एवं बौद्ध धर्म के बारे में 70 रोचक तथ्य

1. भगवान गौतम बुद्ध एक भारतीय दार्शनिक, श्रमण, ध्यानी, आध्यात्मिक गुरु व समाजसुधारक थे, जो ईसा पूर्व 7वीं से 6वीं शताब्दी, ईसा पूर्व 6 वीं से 5वीं शताब्दी या ईसा पूर्व 5वीं से 4थी शताब्दी में प्राचीन भारत में रहते थे।

 

2. बुद्ध की जन्म-मृत्यु (जीवन काल) या तो “ईसा पूर्व 536 – ईसा पूर्व 483”  या “ईसा पूर्व 480 – ईसा पूर्व 400” ऐसा माना जाता है। हालाँकि, हाल के शोध से पता चला है कि बुद्ध का जन्म प्रचलित जन्म वर्ष से करीब एक सदी पहले हुआ था, “ईसा पूर्व 623 – ईसा पूर्व 543” को बुद्ध का जीवनकाल माना जाता है।

 

3. मृत्यु के बाद बुद्ध के शरीर के अवशेषों को आठ भागों में बांटकर उन पर आठ स्तूपों का निर्माण कराया गया था।

 

4. बुद्ध” यह व्यक्तिगत नाम नहीं है। यह एक सम्मानजनक उपाधि है, जिसका अर्थ है “जागृत व्यक्ति”। बुद्ध का असली नाम सिद्धार्थ गौतम था।

 

5. एक अनुमान के अनुसार, दुनिया भर में 173 करोड़ से 200 करोड़ लोग बौद्ध हैं, जो दुनिया की आबादी का 22% से 25% हिस्सा हैं।

 

6. जिस तरह मुस्लिमों के लिए क़ुरान है और ईसाइयों के लिए बाइबल है, उस तरह बौद्धों के लिए कोई एक केंद्रीय धर्म ग्रंथ नहीं है। बौद्ध धर्म के असंख्य ग्रंथ है, जिन्हें कोई भी एक व्यक्ति अपने संपूर्ण जीवन काल में नहीं पढ़ सकता! “त्रिपिटक” को बौद्ध ग्रंथों में सबसे महत्वपूर्ण ग्रंथ माना जाता है।

 

7. प्रविष्ठ बौद्ध धर्म के त्रिरत्न हैं –
(i) बुद्ध
(ii) धम्म
(iii) संघ

 

8. बुद्ध का जन्म लुम्बिनी, नेपाल में वेसाक पूर्णिमा के दिन एक खूबसूरत बगीचे में हुआ था।

 

9. अन्य धार्मिक प्रथाओं की तरह, बौद्ध धर्म में किसी व्यक्ति को किसी निर्माता, ईश्वर या देवताओं में विश्वास करने की आवश्यकता नहीं होती है। बौद्ध धर्म तीन मौलिक अवधारणाओं में विश्वास करता है: १) कुछ भी स्थायी नहीं है, २) सभी कार्यों के परिणाम होते हैं, और ३) इसे बदलना संभव है।

 

10. जब बुद्ध को अपनी शिक्षाओं को एक शब्द में समेटने (सारांश) के लिए कहा गया, तो उन्होंने कहा – “जागरूकता।”

 

11. बुद्ध को अक्सर “महान चिकित्सक” कहा जाता है क्योंकि वे मुख्य रूप से मानव पीड़ा के कारण की पहचान करने और इसे खत्म करने का तरीका खोजने के लिए जाने जाते हैं।

 

12. बुद्ध के अनुसार, खुशी का रहस्य सरल है: जो आपके पास है उसे चाहना और जो आपके पास नहीं है उसे नहीं चाहना।

 

13. आचार्य ओशो (रजनीश) ने कहा है कि, “बुद्ध के बाद उनके आसपास जा सके ऐसा महामानव विश्व ने या भारत ने आज तक निर्माण नहीं किया है।”

 

14. मार्को पोलो के अनुसार, “यदि बुद्ध ईसाई होते, तो वे हमारे प्रभु यीशु मसीह के महान गुरू होते, इतना उनका जीवन इतना अच्छा और शुद्ध था।”

 

15. बुद्ध कैथोलिक और ऑर्थोडॉक्स ईसाई चर्चों के विहित संत हैं।

 

16. बौद्ध देश – दुनिया में कुल 18 बौद्ध देश और गणराज्य हैं जहां बौद्ध धर्म बहुसंख्यक है। (सूची देखें)

buddhism facts
जगभरातील बौद्धांचे विवरण : Distribution of Buddhists Around the World | photo: slideplayer.com

17.बौद्ध धर्म” दुनिया के 6 देशों का “आधिकारिक धर्म” हैं। (सूची देखें)

 

18. बुद्ध को आमतौर पर लम्बी कानों के साथ दिखाया जाता है, जो ज्ञान और समझ का प्रतीक है।

 

19. बुद्ध को अक्सर एक ज्वलनशील हेडड्रेस पहने हुए चित्रित किया जाता है, जो सर्वोच्च ज्ञान के प्रकाश का प्रतिनिधित्व करता है।

 

20. बुद्ध की शिक्षाओं को “धम्म” के रूप में भी जाना जाता है, जिसका अर्थ है सिद्धांत, सत्य या कानून।

buddhism history hindi

21. बौद्ध आत्मा (soul) में विश्वास नहीं करते हैं।

 

22. जब वैज्ञानिकों ने बौद्ध भिक्षुओं के मस्तिष्क का अध्ययन किया, तो उन्होंने पाया कि ध्यान ने वास्तव में भिक्षुओं के मस्तिष्क की तरंगों को इस तरह से बदल दिया जिससे खुशी और लचीलेपन की भावना में वृद्धि हुई।

 

23. बुद्ध के महापरिनिर्वाण और अंतिम संस्कार के बाद, उनकी राख को भारत में उनके अनुयायियों के बीच विभाजित की गई और उसे विभिन्न जगहों पर दफनाया गया था। प्रत्येक कब्रगाह पर एक बड़ा, गुंबद के आकार का भव्य स्तूप बनाया गया था।

 

24. भारत में बौद्ध धर्म को पुनर्जीवित करने वाले डॉ. बाबासाहब आंबेडकर की छवि या प्रतिमा एक बोधिसत्व के रूप में भगवान बुद्ध के साथ स्थापित की जाती है। भारत के विहार, स्तूप, चैत्य जैसे बौद्ध मंदिरों में, बौद्ध सम्मेलनों एवं कार्यक्रमों में, तथा धार्मिक व सामाजिक रैलियों में बोधिसत्व बाबासाहब आंबेडकर और तथागत भगवान बुद्ध की प्रतिमा एक साथ दिखती है। उनकी भारतीय बौद्धों के बीच की लोकप्रियता ने तथा उनके बौद्ध धर्म के महान कार्यों ने उन्हें भगवान बुद्ध के समकक्ष स्थान दिलाया।

 

25. जनसंख्या और आकार की दृष्टि से चीन विश्व का सबसे बड़ा बौद्ध देश है, और इस देश में दुनिया की कुल बौद्ध आबादी (1.7 अरब या 173 करोड़) का 67% हिस्सा है। एक अनुमान के अनुसार, चीन की 50% से 80% आबादी या 72 करोड़ से 1.15 अरब लोग बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं। (देखें – 10 सबसे बड़ी बौद्ध आबादी वाले देश)

 

26. दुनिया के दो सबसे बड़े खड़े बुद्ध स्टैच्यू अफगानिस्तान में हुआ करते थे। हालांकि, 2001 में इस्लामी कट्टरपंथी तालिबान ने इन विशाल बुद्ध प्रतिमाओं को नष्ट कर दिया।

 

27. दुनिया में सबसे बड़े बैठे हुए बुद्ध स्टैच्यू को लगभग 800 ईस्वी में चीन के लेशान में लिंग्युन हिल के चट्टान के चेहरे से उकेरा गया था। यह मूर्ति लगभग 230 फीट (70 मीटर) ऊँची है और इसके कंधे 90 फीट (30 मीटर) के पार हैं।

 

28. स्प्रिंग टेंपल बुद्धा यह चीन में स्थित विश्व की सबसे ऊंची बुद्ध प्रतिमा हैं और उसकी कुल ऊंचाई 208 मीटर है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के बाद यह दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची मूर्ति हैं।

 

29. बौद्ध धर्म में कोई “शैतान” या “भुत” नहीं है। इसके बजाय, कोई चीज “बुरी” है अगर वह दुख का कारण बनती है। बुद्ध के अनुसार, दुख का सबसे बड़ा कारण हमारा अहंकार है, या यह धारणा कि हम दुनिया से अलग हैं। जब अहंकार समाप्त होता है, तब खुशी शुरू होती है।

 

30. बुद्ध की पूजा नहीं की जाती है। हिंदू धर्म को माननेवाले कुछ लोग बुद्ध को विष्णु के अवतार के रूप में देखते हैं, जबकि बौद्ध लोग बुद्ध को एक मानव मानते हैं।

 

31. बौद्ध धर्म के अनुसार, सफलतापूर्वक ज्ञान प्राप्त करने के बाद कोई भी “बुद्ध” हो सकता है।

 

32. विश्व का सबसे बड़ा धर्मांतरण मुंबई में हुआ था, जब एक ही दिन में 10 लाख लोगों ने बौद्ध धर्म अपनाया था। 7 दिसंबर 1956 को, डॉ. बाबासाहब आंबेडकर का अंतिम संस्कार चैत्रभूमि, मुंबई में हुआ तब उनके पार्थिव शरीर की उपस्थिति में उनके 10 लाख से अधिक समर्थकों ने बौद्ध धर्म को अपनाया था।

 

33. बुद्ध ने अपने सर्वाधिक उपदेश कौशल देश की राजधानी श्रीवस्ती में दिए।

 

34. बौद्ध धर्म में, किसी व्यक्ति को उनके पापों से बचाने के लिए कोई मसीहा या मुक्तिदाता नहीं है। केवल बौद्ध धर्म में विश्वास करने से किसी प्रकार का अनुग्रह नहीं मिलता है; बल्कि, प्रत्येक व्यक्ति अपना ज्ञानोदय प्राप्त करने, खुद का विकास करने के लिए स्वयं ही जिम्मेदार होता है।

 

35. कमल पुष्प बौद्ध धर्म में एक महत्वपूर्ण प्रतीक है। यह ज्ञानोदय की यात्रा का प्रतिनिधित्व करता है क्योंकि यह कीचड़ भरे पानी से प्रकाश की ओर बढ़ता है, ठीक वैसे ही जैसे कोई “बुद्ध” या प्रबुद्ध व्यक्ति करता है।

 

36. बौद्ध धर्म अनीश्वरवादी है और इसमें आत्मा की परिकल्पना भी नहीं है। – interesting facts about buddhism

 

37. अन्य धर्मोंपदेशों के विपरीत, में बुद्ध ने ईश्वर के स्थान पर मानव प्रतिष्ठा पर ही बल दिया है।

 

38. बुद्ध के अनुयायी दो भागों मे विभाजित हैं :

  1. भिक्खु व भिक्खुनी – बौद्ध धर्म के प्रचार के लिए जिन पुरुषों ने संयास लिया उन्हें भिक्खु या भिक्षु कहा जाता है, तथा महिलाओं को भिक्खुनी या भिक्षुनी कहा जाता है।
  2. उपासक व उपासिका – गृहस्थ जीवन व्यतीत करते हुए बौद्ध धर्म अपनाने वालों को पुरुषों को उपासक एवं महिलाओं को उपासिका कहते हैं। इनकी न्यूनत्तम आयु 15 साल है।

 

39. दुनिया के अधिकांश धर्म अपने आप को सृजन और मृत्यू के बाद के जीवन से संबंधित मानते हैं, जबकि बौद्ध धर्म में, सबसे महत्वपूर्ण अवधारणा यह है कि अतीत और भविष्य पर ध्यान केंद्रित करना छोड़ कर केवल वर्तमान पर केंद्रित करना।

 

40. कुछ बौद्ध संप्रदाय स्वर्ग और नरक में विश्वास करते हैं, जबकि अधिकांश बौद्ध मानते हैं कि स्वर्ग या नरक मन की एक अवस्था है। संक्षेप में, अपनी जागरूकता को स्थानांतरित करके, हम चेतना के एक अलग स्तर को प्राप्त करते हैं।

mahatma Buddha in hindi  – बौद्ध धर्म की महत्वपूर्ण जानकारी

41. बौद्धसंघ में प्रविष्‍ट होने को उपसंपदा कहा जाता है.

 

42. प्रसिद्ध भारतीय बौद्धों में डॉ. बाबासाहब आंबेडकर, रहुल संकृत्यायान, पी लक्ष्मी नरसु, रामदास आठवले, प्रियंका गांधी, किरण रिजिजू, प्रकाश आंबेडकर, राजेंद्र पाल गौतम, जी परमेश्वर; जस्टिस भूषण गवई; अर्थशास्त्रियों में डॉ अमर्त्य सेन, डॉ नरेंद्र जाधव; फिल्मी सितारों में तुषार कपूर, आयुष्मान खुराना, हंसिका मोटवानी, मंदाकिनी, श्रद्धा दास, डैनी डेंजोंगपा, अक्षरा हासन, गगन मलिक, उषा जाधव, और नकुल मेहता शामिल हैं।

 

43. शिक्षाविदों ने दर्ज किया है कि एशियाई देशों में अधिकांश लोग औपचारिक रूप से खुद को किसी भी धर्म का हिस्सा माने बिना बौद्ध धर्म या अन्य धार्मिक प्रथाओं में संलग्न हो सकते हैं। चीन, जापान, कोरिया, वियतनाम जैसे देशों में वहां के लोग स्थानीय लोक धर्म को मानते समय बौद्ध धर्म का भी पालन करते हैं।

 

44. बौद्ध धर्म में रुचि लेने वाले पहले प्रमुख पश्चिमी विचारक जर्मन दार्शनिक आर्थर शोपेनहावर (1788-1860) थे। उन्होंने बौद्ध धर्म को सभी विश्व धर्मों में सबसे तर्कसंगत और नैतिक रूप से विकसित धर्म के रूप में देखा।

45. दुनिया के अब तक के सबसे महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा था कि, “जो आधुनिक विज्ञान की आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकता है ऐसा कोई धर्म है तो वह केवल बौद्ध धर्म है।”

 

46. बौद्ध धर्म के चार आर्य सत्य निम्नलिखित हैं, जो बौद्ध धर्म की नींव हैं। सारनाथ (पूर्वोत्तर भारत) में बुद्ध ने अपने पांच शिष्यों को पहला धम्म संदेश दिया और उस समय चार आर्यसत्यों को बताया – interesting facts about buddhism

  1. दुःख : संसार में दुःख है,
  2. समुदय : दुःख के कारण हैं,
  3. निरोध : दुःख के निवारण हैं,
  4. मार्ग : निवारण के लिये अष्टांगिक मार्ग हैं।

 

47. धार्मिक जुलूस सबसे पहले बौद्ध धर्म में ही निकाला गया था।

 

48. विश्व का 3 सबसे बड़े सामूहिक बौद्ध धर्मांतरण कार्यक्रम डॉ बाबासाहब आंबेडकर ने किए थे, उन्होंने 3 दिन में लगभग 11 लाख लोगों को बौद्ध धर्म की दीक्षा दी थी। 14 अक्टूबर 1956 को डॉ आंबेडकर ने 5,00,000 लोगों को बौद्ध बनाया, अगले दिन 15 अक्टूबर को 3,00,000 लोगों को बौद्ध बनाया और फिर उसके अगले दिन 16 अक्टूबर को 3,00,000 लोगों को बौद्ध बनाया।

 

49. चतुर्थ बौद्ध संगीति के बाद बौद्ध धर्म दो भागों में विभाजित हो गया:
(i) हीनयान
(ii) महायान

 

50. आधुनिक दुनिया में बौद्ध धर्म की तीन प्रमुख शाखाएँ (संप्रदाय) हैं –

  1. थेरवाद बौद्ध धर्म: थाईलैंड, श्रीलंका, कंबोडिया, लाओस और बर्मा में प्रचलित है।
  2. महायान बौद्ध धर्म: चीन, जापान, ताइवान, कोरिया, सिंगापुर और वियतनाम में प्रचलित है।
  3. वज्रयान बौद्ध धर्म: तिब्बत, नेपाल, मंगोलिया, भूटान और रूस और उत्तरी भारत के कुछ हिस्सों में प्रचलित है।

महायान को सबसे बड़ी शाखा माना जाता है, थेरवाद और वज्रयान क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर आते हैं।

 

51. दुनिया का सबसे बड़ा बुद्ध मंदिर इंडोनेशिया में बोरोबुदुर है। इंडोनेशिया कभी बौद्ध देश था लेकिन आज यह एक मुस्लिम देश है।

 

52. सांसारिक दुखों से मुक्ति के लिए बुद्ध ने अष्टांगिक मार्ग की बात कही, जो मध्यम मार्ग हैं। बुद्ध धम्म जीवन का मार्ग दिखाता है। धम्म का अर्थ है नीति। नीति का विकास दुख का निवारण है। मनुष्य नीति का पालन करके एक निश्चित लक्ष्य तक पहुँच सकता है। धम्म की शिक्षाओं के अनुसार इसे अष्टांगिक मार्ग कहा जाता है।

  1. सम्यक दृष्टि
  2. सम्यक संकल्प
  3. सम्यक वाणी
  4. सम्यक कर्मांत
  5. सम्यक आजीव
  6. सम्यक व्यायाम
  7. सम्यक स्मृति
  8. सम्यक समाधि

 

53. बौद्ध धर्म के अनुसार ‘कर्म’ नैतिक और अच्छे जीवन जीने का आधार है। कर्म को एक प्रकार के लिफ्ट के रूप में देखा जा सकता है जो लोगों को चेतना की एक मंजिल से दूसरी मंजिल तक ले जाता है।

 

54. भगवान बुद्ध से जुड़े 8 सबसे महत्वपूर्ण स्थान – लुम्बिनी, गया, सारनाथ, कुशीनगर, श्रावस्ती, संकास्य, राजगृह तथा वैशाली को बौद्ध ग्रंथों में अष्टमहास्थान नाम से जाना गया है।

 

55. एक अनुमान के मुताबिक, भारत में 6 करोड़ से ज्यादा बौद्ध धर्म के अनुयाई है, जो देश की ईसाई और सिख जनसंख्या से भी अधिक है। भारत के राष्ट्रीय जनगणना में लगभग 5 करोड बौद्धों को ‘हिंदू’ के रूप में दर्ज किया गया है, ऐसा दावा कई बौद्ध विद्वानों ने किया हैं। (देखें)

 

56. बुद्ध के अंतिम शब्द थे, “क्षय सभी चीजों में निहित है: मन की स्पष्टता (निर्वाण के लिए) के साथ प्रयास करना सुनिश्चित करें।”

 

57. बौद्ध धर्म का अंतिम लक्ष्य दुख का अंत करना है। दुख को समाप्त करने का तरीका अच्छाई और खुशी के लिए मानवीय क्षमता को पूरा करना है।

 

58. interesting facts about buddhism – कैथोलिक ईसाई धर्म में पोप के समान बौद्ध धर्म का कोई भी सर्वोच्च नेता नहीं है। परम पावन 14वें दलाई लामा विश्व भर में एक बौद्ध गुरु के रूप में प्रचलित है, किंतु वह केवल तिब्बतियन बौद्ध धर्म के सर्वोच्च नेता है।

 

59. बुद्ध का केवल एक पुत्र था जिसका नाम राहुल था। उसके जन्म के कुछ समय बाद, बुद्ध ने ज्ञान प्राप्त करने के लिए अपने परिवार को छोड़ दिया। उनका पुत्र बाद में श्रामनेर (भिक्खू) बना।

 

gautam Buddha in hindi – बौद्ध धर्म का इतिहास

60. एशिया में बौद्ध लोग अपने धर्म को “बौद्ध धर्म” नहीं कहते हैं बल्कि, वे इसे या तो धम्म / धर्म (“कानून”) या बुद्ध-सासन (“बुद्ध की शिक्षाएं”) कहते हैं।

 

61. सर्वाधिक बुद्ध की मूर्तियों का निर्माण गंधार शैली के अंतर्गत किया गया था. लेकिन बुद्ध की प्रथम मूर्ति मथुरा कला के अंतर्गत बनी थी.

 

62. काल्मिकिया (Kalmykia) यूरोप का एकमात्र ऐसा गणराज्य है जहां बौद्ध धर्म बहुमत में है।

 

63. लंबाई के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति चीन में है, जो 1,365 फीट लंबी बुद्ध की विशालकाय मूर्ति है। पूर्वी चीन के जियांग्शी प्रांत के यियांग काउंटी में दुनिया की सबसे बड़ी लेटे हुए हुई बुद्ध की की मूर्ति हैं, जो 68 मीटर ऊँची और 416 मीटर (1,365 फिट) लम्बी है। (182 मीटर ऊंची हैं स्टेचू ऑफ़ यूनिटी) एक पहाड़ के विशाल चट्टान से इस पत्थर की विशाल बुद्ध मूर्ति निर्माण किया गया था। इसका निर्माण कार्य 2002 में शुरू हुआ और इसे पूरा होने में दो साल से अधिक का समय लगा।

मूर्ति पहाड़ के मूल आकार का लाभ उठाती है, जो मानव शरीर के समान था। निर्माण कार्य 2002 में शुरू हुआ और इसे पूरा होने में दो साल से अधिक का समय लगा।
World’s largest reclining Buddha statue in Yiyang County, Jiangxi, China – chinadaily.com

64. बौद्ध धर्म दुनिया का पहला विश्व धर्म होने के साथ-साथ पहला प्रचारक धर्म भी था जो अपने मूल स्थान से निकलकर पूरी दुनिया में दूर-दूर तक फैला था।

 

65. विश्व में बौद्ध भिक्षुओं और भिक्षुणियों की सबसे अधिक संख्या थाईलैंड में है।

 

66. भारत के बौद्धों में 90 से 95% आंबेडकरवादी बौद्ध हैं, और शेष 5 से 10% पारंपरिक बौद्ध हैं।

 

67. बुद्ध का जन्म नेपाल में हुआ था, और बुद्ध को ज्ञान एवं महापरिनिर्वाण की प्राप्ति भारत में हुई थी। लेकिन बौद्ध धर्म से जुड़े इन दोनों देशों में बौद्ध धर्म अल्पसंख्यक है।

 

68. गौतम बुद्ध ने लगभग 1 लाख लोगों को बौद्ध धम्म की दीक्षा दी थी। बुद्ध के जीवनकाल के दौरान ही बौद्ध धर्म विभिन्न क्षेत्रों में फैल गया।

 

69. 2022 में, महाराष्ट्र की 6% से 10% आबादी (75 लाख से 1.57 करोड़) बौद्ध है। ऐसा इसलिए है क्योंकि महाराष्ट्र में महार समुदाय द्वारा बौद्ध धर्म को अपनाया गया है, जो राज्य की आबादी में 9% और राज्य की अनुसूचित जातियों में 70 प्रतिशत है।

 

70. महाराष्ट्र में बौद्ध आबादी भूटान, मंगोलिया, लाओस, मलेशिया, नेपाल, रूस, सिंगापुर, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, इंडोनेशिया जैसे कई देशों की बौद्ध आबादी से अधिक है।

 

71. तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में, मौर्य भारतीय सम्राट अशोक महान ने बौद्ध धर्म को भारत का ‘राज्य धर्म’ (state religion) बनाया था। 

 

सारांश (Summary) :

दोस्तों, आज की इस पोस्ट में आप बुद्ध और बौद्ध धर्म के बारे में रोचक तथ्य (interesting facts about buddhism in hindi) जान गए होंगे। हमें कमेंट में बताएं कि आपको यह बौद्ध धर्म की जानकारी (buddhism in hindi) कैसी लगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें।


ये भी पढ़ें —


(धम्म भारत के सभी अपडेट पाने के लिए आप हमें फेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

2 thoughts on “बौद्ध धर्म से जुड़े 70 रोचक तथ्य एवं महत्वपूर्ण जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.