दुनिया के 10 सबसे बड़ी बौद्ध आबादी वाले देश | Top 10 Countries with Highest Buddhist Population

दुनिया के लगभग हर देश में बौद्ध धर्म के अनुयायी पाए जाते हैं। दुनिया में 18 देश और गणतंत्र हैं ऐसे हैं जिनकी बहुसंख्यक आबादी बौद्ध है। इस लेख में जानिए, दुनिया के 10 सबसे बड़ी बौद्ध आबादी वाले देशों के बारे में जो बौद्ध जगत में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। –  Countries with Highest Buddhist Population

  हा लेख मराठीत वाचा  

buddhist countries
Distribution of Buddhists Around the World | photo: slideplayer.com

Top 10 Countries with Highest Buddhist Population

बौद्ध धर्म एक प्राचीन भारतीय धर्म है, जो मगध (अब बिहार में) के प्राचीन साम्राज्य में और उसके आसपास उत्पन्न हुआ, और गौतम बुद्ध की शिक्षाओं पर आधारित है, जिन्हें “बुद्ध” (“जागृत व्यक्ति”) कहाँ जाता था। बौद्ध धर्म बुद्ध के जीवनकाल में ही मगध के बाहर फैल गया। आज दुनिया में 1.73 अरब से 2 अरब तक (22% – 25%) बौद्ध अनुयायियों की आबादी है। इनमें से अधिकतर अनुयाई महायान बौद्ध संप्रदाय से संबंधित हैं तथा अन्य थेरवाद संप्रदाय से हैं।

जनसंख्या के मामले में बौद्ध धर्म दुनिया का “दूसरा” या “तीसरा” सबसे बड़ा धर्म है। हालांकि, अमेरिका के प्यू रिसर्च सेंटर की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2010 में, दुनिया में बौद्धों की संख्या केवल 52 करोड़ या 7% थी। इसने बौद्ध धर्म को “चौथा” सबसे बड़ा धर्म बना दिया। इस रिपोर्ट में चीन, जापान और वियतनाम जैसे कई देशों में बौद्ध आबादी को वास्तविक जनसंख्या (सरकारी आंकड़े) से काफी कम दिखाया था!

दुनिया के लगभग हर देश में बौद्ध धर्म के अनुयायी पाए जाते हैं। दुनिया में 18 देश और गणतंत्र हैं ऐसे हैं जिनकी बहुसंख्यक आबादी बौद्ध है।  इस लेख में हम दुनिया के 10 सर्वाधिक बौद्ध आबादी वाले देशों के बारे में जानेंगे। इन देशों की सूची Dr. Daya Hewapathirane के अध्ययन के आंकड़ों के अनुसार बनाई गई है। हालांकि, प्यू रिसर्च सेंटर के अनुमान में बौद्ध आबादी काफी कम (55 करोड़ या 7%) बताई गई हैं, हालाँकि इससे 3 से 4 गुना ज्यादा बौद्ध आबादी है। –  Countries with Highest Buddhist Population

 

Rank


देश

बौद्ध जनसंख्या (2021)

देश में बौद्धों का अनुपात (%)

विश्व की बौद्ध जनसंख्या का अनुपात (%)

1

चीन

1,15,00,00,000

80%

66%

2

जापान

12,10,00,000

96%

7%

3

वियतनाम

7,37,00,000

75%

4%

4

थाईलैंड

6,65,00,000

95%

4%

5

म्यांमार

5,00,00,000

90%

3%

6

भारत

4,18,00,000

3%

3%

7

दक्षिण कोरिया

2,57,00,000

50%

2%

8

ताइवान

2,18,00,000

93%

1%

9

कंबोडिया

1,67,00,000

98%

1%

10

श्रीलंका

1,57,00,000

70%

1%

कुल

1,58,00,00,000

91%

विश्व के शेष बौद्ध

15,00,00,000

9%

विश्व के कुल बौद्ध

1,73,00,00,000

100%

 

Top 10 Largest Buddhist Populations in the World

दुनिया के 10 सबसे बड़ी बौद्ध आबादी वाले देश

 

#1- चीन (72 – 115 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
चीन के हेनान में स्थित 208 मीटर (682 फीट) ऊँची विश्व की सबसे बड़ी बुद्ध प्रतिमा – ‘स्प्रिंग टेम्पल बुद्धा’
  • आधिकारिक नाम : People’s Republic of China
  • क्षेत्रफल : 95,96,961 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 1.44 अरब
  • बौद्ध जनसँख्या : 72 करोड़ – 1.15 अरब (50-80%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : महायान बौद्ध धर्म

चीन पूर्वी एशिया का एक देश है। 1.4 अरब से अधिक की आबादी के साथ यह दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है और इसके 50% से 80% निवासी बौद्ध हैं। इस प्रकार बौद्ध धर्म के अनुयायियों के मामले में चीन को दुनिया में #1 बौद्ध आबादी बना दिया। बौद्ध धर्म लगभग 2,000 साल पहले हान राजवंश के दौरान भारत से पहली बार चीन पहुंचा था और चीनी जनजीवन में अत्यन्त लोकप्रिय हो गया। बौद्ध धर्म चीन का सर्वाधिक संगठित धर्म है तथा आज समूचे विश्व में सबसे अधिक बौद्ध अनुयायी चीन में ही है। चीन में महायान बौद्ध धर्म प्रचलित है। कई चीनी ताओ तथा बौद्ध धर्म दोनों को एक साथ मानते हैं। जनसंख्या और आकार की दृष्टि से चीन विश्व का सबसे बड़ा बौद्ध देश है। चीन में दुनिया की कुल बौद्ध आबादी (1.7 अरब या 173 करोड़) का 67% हिस्सा है। चीन के 3 स्वायत्त प्रांत प्रांतों में भी सबसे बड़ी संख्या बौद्धों की ही है – हॉन्ग कॉन्ग (67-91%), मकाउ (80%), और तिब्बत (80 – 90%)।

चीन में लगभग सभी धर्मों का अनुसरण किया जाता हैं। बौद्ध, ताओ, ईसाई व इस्लाम यह 4 यहां के मुख्य धर्म हैं। चीन में चीनी लोक धर्मों (Chinese folk religions) पर चीनी बौद्ध धर्म का प्रभाव है इसलिए अधिकांश चीनी लोग चीनी लोक धर्मों के साथ चीनी बौद्ध धर्म (Chinese Buddhism) का भी अनुसरण करते हैं। एक सर्वेक्षण के अनुसार चीन की 50 से 80 प्र.श. आबादी या 72 करोड़ से 1.15 अरब तक लोग बौद्ध हैं जबकि ताओ सिर्फ 30 प्र.श. या 43 करोड़ ही हैं। चूंकि अधिकांश चीनी दोनों धर्मों को मानते हैं इसलिये इन आंकड़ों में दोनों का समावेश हो सकता है। हालांकि, प्यू रिसर्च सेंटर का अनुमान है कि चीन की महज 18.2% आबादी बौद्ध धर्म का पालन हैं; और इसी अनुमान के कारण दुनिया की बौद्ध जनसंख्या में काफी कमी देखी जा सकती हैं। बौद्ध धर्म को सरकार का मौन समर्थन प्राप्त है। चीन में बौद्ध सम्बन्धित सभी पर्वतों पर खनन कार्य पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

लेनिन व माओ के काल में धार्मिक विश्वासों और उनकी अनुपालना पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था। तमाम धार्मिक स्थलों (मन्दिर, पेगोडा, मस्जिदों और चर्चों) को अधार्मिक भवनों में बदल दिया गया था। 1970 के अन्त में लोगों को धार्मिक अनुसरण की इजाजत दी जाने लगी। 1990 के बाद से पूरे चीन में बौद्ध तथा ताओ मन्दिरों के पुनर्निर्माण का विशाल कार्यक्रम शुरू हुआ। 2007 में चीनी संविधान में एक नई धारा जोड़कर धर्म को नागरिकों के जीवन का महत्वपूर्ण तत्व स्वीकार किया गया।

पूर्व चीनी नेता जियांग जेमिन और हू जिंताओ ने बौद्ध धर्म के प्रचार को बढ़ावा दिया था। उन्हें लगता था कि बौद्ध धर्म के प्रचार-प्रसार से शांतिपूर्ण राज्य की छवि उभरकर आती है। इससे सीसीपी की सौहार्दपूर्ण समाज के लक्ष्य की पूर्ति होती है। इससे ताइवान के साथ संबंध सुधारने में भी मदद मिलती है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सत्ता में आने के बाद भी बौद्ध धर्म को सरकार ने बढ़ावा दिया। शी जिनपिंग ने सार्वजनिक तौर पर बौद्ध धर्म, कन्फ्यूसियनिजम और दाओजिम से देश के नैतिक पतन पर नियंत्रण की बात कही थी। (सन्दर्भ) Countries with Highest Buddhist Population

 

 

#2- जापान  (12.10 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population

  • आधिकारिक नाम : Nippon-koku
  • क्षेत्रफल : 3,77,975 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 12.60 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या: 12.10 करोड़ (96%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : महायान बौद्ध धर्म

जापान पूर्वी एशिया में एक द्वीप देश है, जो उत्तर पश्चिमी प्रशांत महासागर में स्थित है। चीन के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी बौद्ध आबादी जापान में है, जिसमें 9 करोड़ से 12 करोड़ बौद्ध हैं।जापान में बौद्ध धर्म का प्रचलन छठी शताब्दी ईस्वी पूर्व से है। जापानी बौद्ध धर्म (Japanese Buddhism) ने कई नए बौद्ध संप्रदायों को जन्म दिया है। बौद्ध धर्म का जापानी समाज और संस्कृति पर बड़ा प्रभाव पड़ा है और यह आज भी एक प्रभावशाली पहलू है।

जापान में भी महायान बौद्ध धर्म प्रचलित है। कुछ रिपोर्टों के अनुसार, जापान की 96% (12 करोड़) जनसंख्या बौद्ध है। जापानी सरकार के 2015 के एक अध्ययन के अनुसार, जापानी आबादी में 69.8% (9 करोड़) बौद्ध है। जापानी सरकार की सांस्कृतिक मामलों की एजेंसी के अनुमान के अनुसार, 2018 के अंत तक, जापान में लगभग 8.40 करोड़ या लगभग 67% जापानी आबादी बौद्ध धर्म के अनुयायियों की हैं। हालांकि, प्यू रिसर्च सेंटर का अनुमान है कि 2010 में 36.2% आबादी बौद्ध धर्म का पालन करती थी। इस तरह list of countries with the highest buddhist population यानी सबसे ज्यादा बौद्ध अनुयायियों के देशों की सूची में जापान दूसरे नंबर पर आता है।

 

 

#3- वियतनाम (7.37 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
PIXELS
  • आधिकारिक नाम : Socialist Republic of Vietnam
  • क्षेत्रफल : 3,31,699 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 9.83 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 7.37 – 7.86 करोड़ (75-80%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : महायान बौद्ध धर्म

वियतनाम में बौद्ध धर्म 75-80% वियतनामी द्वारा फॉलो किया जाता है, जो मुख्य रूप से महायान परंपरा का है और देश का मुख्य धर्म है। बौद्ध धर्म पहली बार भारतीय उपमहाद्वीप से तीसरी या दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में या चीन से पहली या दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में वियतनाम आया था।

Đinh dynasty – दीन राजवंश (९६८-९८०) के दौरान, बौद्ध धर्म को राज्य द्वारा आधिकारिक धर्म (~९७१) के रूप में मान्यता दी गई थी, जो वियतनामी राजाओं द्वारा आयोजित बौद्ध धर्म के उच्च सम्मान को दर्शाता है। वियतनामी बौद्ध धर्म, ली राजवंश (१००९-१२२५) के दौरान अपने चरम पर पहुंच गया, जिसकी शुरुआत संस्थापक ली थाई तू से हुई, जो एक पॅगोडा में पले-बढ़े थे। ले राजवंश के दौरान सभी राजाओं ने बौद्ध धर्म को राज्य धर्म के रूप में स्वीकृत किया, और यह ट्रोन राजवंश (1225-1400) के साथ कायम रहा।

आज, बौद्ध पूरे वियतनाम में उत्तर से दक्षिण तक पाए जाते हैं। वियतनाम में बौद्ध धर्म अकेला सबसे बड़ा संगठित धर्म है, जहां की 75% आबादी बौद्ध धर्म की अनुयाई है। कुछ लोगों ने तर्क दिया कि संख्या रिपोर्ट की तुलना में अधिक है, क्योंकि कई ने खुद को नास्तिक घोषित किया लेकिन फिर भी बौद्ध गतिविधियों में भाग लेते हैं। कुछ सर्वेक्षण यह बताते हैं कि वियतनाम की 75% से 85% (7.37 – 8.36 करोड़) आबादी बौद्ध है।

हालांकि वियतनाम की कम्युनिस्ट पार्टी आधिकारिक तौर पर नास्तिकता को बढ़ावा देती है, यह आमतौर पर बौद्ध धर्म के पक्ष में है, क्योंकि बौद्ध धर्म वियतनाम के लंबे और गहरे इतिहास से जुड़ा हुआ है। इसके अलावा, बौद्धों और सरकार के बीच शायद ही कभी विवाद हुआ हो; कम्युनिस्ट सरकार बौद्ध धर्म को वियतनामी देशभक्ति के प्रतीक के रूप में भी देखती है। बौद्ध त्योहारों को आधिकारिक तौर पर सरकार द्वारा बढ़ावा दिया जाता है और इसके विपरीत ईसाई, मुस्लिम और अन्य धार्मिक समुदायों के त्योहारों पर कुछ प्रतिबंध है। Countries with Highest Buddhist Population

 

 

#4– थाईलैंड (6.65 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
थाईलैंड की सबसे बड़ी बुद्ध प्रतिमा | © Longjeaw / Pixabay
  • आधिकारिक नाम : Kingdom of Thailand
  • क्षेत्रफल : 5,13,120 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 7 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 6.65 करोड़ (95%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : थेरवाद बौद्ध धर्म

थाईलैंड दक्षिण पूर्व एशिया का एक देश है, जिसकी करीब 95 प्रतिशत आबादी बौद्ध धर्म का पालन करती है। लगभग 6 करोड़ 65 लाख बौद्धों के साथ, चीन, जापान, वियतनाम के बाद थाईलैंड में दुनिया की चौथी सबसे बड़ी बौद्ध आबादी बना है। थाईलैंड में बौद्ध धर्म के थेरवाद संप्रदाय का प्रभाव है।

थाईलैंड में बौद्ध धर्म भी लोक धर्म (folk religions) के साथ-साथ बड़ी थाई चीनी आबादी के चीनी धर्मों के साथ एकीकृत हो गया है। थाईलैंड में बौद्ध मंदिरों को लंबे सुनहरे स्तूपों की विशेषता है, और थाईलैंड की बौद्ध वास्तुकला अन्य दक्षिण पूर्व एशियाई देशों, विशेष रूप से कंबोडिया और लाओस के समान है, जिसके साथ थाईलैंड सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विरासत साझा करता है।

माना जाता है कि भारतीय सम्राट अशोक के समय में बौद्ध धर्म तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में थाईलैंड में आया है। तब से, बौद्ध धर्म ने थाई संस्कृति और समाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। बौद्ध धर्म और थाई राजशाही को अक्सर आपस में जोड़ा गया है, थाई राजाओं को ऐतिहासिक रूप से थाईलैंड में बौद्ध धर्म के मुख्य संरक्षक के रूप में देखा जाता है।

थाई बौद्ध धर्म प्रत्येक थाई व्यक्ति के लिए अल्पकालिक समन्वय पर जोर देने और थाई राज्य और थाई संस्कृति के साथ इसके घनिष्ठ संबंध के लिए प्रतिष्ठित है। थाई बौद्ध धर्म की दो आधिकारिक शाखाएँ या निकाय हैं – शाही समर्थित ‘धम्मयुत्तिका निकाय’ और बड़ी ‘महानिकाय’। The largest Buddhist populations in the world

 

 

#5- म्यांमार (5 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
म्यांमार में स्थित बुद्ध की मूर्ति – बोधि तातुंग स्टैंडिंग बुद्ध, जो दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची मूर्ति है। फोटो: Shutterstock
  • आधिकारिक नाम : Republic of the Union of Myanmar
  • क्षेत्रफल : 6,76,578 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 5.50 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 5 करोड़ (90%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : थेरवाद बौद्ध धर्म

म्यांमार (बर्मा या ब्रह्मदेश) दक्षिण पूर्व एशिया का एक देश है। बौद्ध धर्म म्यांमार की लगभग 90% आबादी द्वारा पालन किया जाता है, और वो मुख्य रूप से थेरवाद परंपरा का है। जनसंख्या में बौद्ध भिक्खुओं के अनुपात और धर्म पर खर्च की गई आय के अनुपात के मामले में यह सबसे धार्मिक बौद्ध देश है।

म्यांमार में बौद्ध धर्म के प्रारंभिक इतिहास को समझना मुश्किल है। पाली ऐतिहासिक इतिहास में कहा गया है कि अशोक ने बौद्ध धर्म के प्रसार के रूप में सोना और उत्तरा इन दो भिक्षुओं को 228 ईसा पूर्व के आसपास अन्य भिक्षुओं और पवित्र ग्रंथों के साथ “सुवर्णभूमि” भेजा था। इस क्षेत्र को प्राचीन दक्षिण पूर्व एशिया में कहीं होने के रूप में मान्यता दी गई है, संभवत: यह स्थान निचले बर्मा में थाटन या थाईलैंड में नाकोन पाथोम में हैं।

म्यांमार की संस्कृति बौद्ध धर्म से अविभाज्य है। साल भर में कई बर्मी पारंपरिक त्यौहार होते हैं, और उनमें से अधिकांश बौद्ध धर्म से संबंधित होते हैं। म्यांमार, दुनिया के सबसे अधिक बौद्ध आबादी वाले देशों में (Top 10 Largest Buddhist Populations In The World) पांचवे स्थान पर आता है।

 

 

#6- भारत (4.18 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
रवंगला, सिक्किम के बुद्ध पार्क में बुद्ध की मूर्ति
  • आधिकारिक नाम : Republic of India
  • क्षेत्रफल : 32,87,263 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 1.393 अरब
  • बौद्ध जनसँख्या : 4.18 करोड़ (3%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : नवयान बौद्ध धर्म

भारत दक्षिण एशिया का एक देश है। यह क्षेत्रफल के हिसाब से सातवां सबसे बड़ा देश, दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश और दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला लोकतंत्र है।भारत “बुद्ध भूमि” है क्योंकि यहां पर बुद्ध और बौद्ध धर्म का जन्म हुआ है। करीब 2600 साल पहले भारत में बौद्ध धर्म की शुरुआत हुई और वह धीरे धीरे दुनिया के कई हिस्सों में फैल गया।

बौद्ध धर्म एक प्राचीन भारतीय धर्म है, जो मगध (अब बिहार में) के प्राचीन साम्राज्य में और उसके आसपास उत्पन्न हुआ, और गौतम बुद्ध की शिक्षाओं पर आधारित है, जिन्हें “बुद्ध” (“जागृत व्यक्ति”) समझा जाता था। बुद्ध के जीवनकाल में ही बौद्ध धर्म मगध के बाहर दूर दूर तक फैल गया था। कई शतकों तक भारत बुद्धमय राष्ट्र था, यानी भारत में बौद्ध धर्म सबसे प्रमुख एवं सबसे बड़ा धर्म था। हालांकि, आज इस देश में हिंदू बहुसंख्यक है और बौद्ध अल्पसंख्यक बने हुए हैं।

चक्रवर्ती सम्राट अशोक समेत कोई भारतीय राजाओं ने बौद्ध धर्म को समर्थन दिया था, और उसे देश का ‘राज्य धर्म’ या ‘आधिकारिक धर्म’ बनाया था। करीब 12वीं 13वीं शताब्दी तक भारत में बौद्ध धर्म एक प्रमुख धर्म था, उसके बाद कुछ हिमालयीन क्षेत्र और पूर्वी राज्यों को छोड़कर बौद्ध धर्म भारत के अन्य राज्यों में अल्पमत में आ गया।

1956 में विश्व के बौद्ध इतिहास में एक महान क्रांति हुई, भारतीय राज्य महाराष्ट्र के नागपुर शहर एवं चंद्रपूर शहर में अक्टूबर 1956 को डॉ. बाबासाहब आंबेडकर ने अपने 11 लाख अनुयायियों को बौद्ध बनाया, और आज भी बाबासाहब के रास्ते पर चलकर हरसाल हजारो लोग बौद्ध बन रहे हैं। भारतीय बौद्ध जनसंख्या में 90-95 फ़ीसदी से अधिक आंबेडकरवादी बौद्ध है, जिनमें से अधिकतर ‘अनुसूचित जाति’ से संबंधित है।

 

एक अनुमान के अनुसार भारत में 3% से अधिक बौद्ध हैं जिनकी 4 करोड़ से अधिक आबादी हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में (2021 की जनसंख्या को देखते हुए) 1 करोड़ से अधिक बौद्ध हैं; हालांकि कुछ अन्य दावों के मुताबिक देश में 5 से 6 करोड़ बौद्ध हैं, जबकि कुछ बौद्ध विचारकों ने तो भारत में 10 करोड़ बौद्ध होने के दावा किया गया हैं।

दिल्ली सरकार के मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने भी 2025 तक भारत में आधिकारिक 10 करोड़ बौद्ध बनाने का संकल्प किया है। इसके लिए राष्ट्रीय जनगणना में धर्म के स्तम्भ में “हिन्दू” के स्थान पर “बौद्ध” लिखने का आवाहन उन्होंने किया है। इसी तरह के संकल्प रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रदेशाध्यक्ष एम. वेंकटस्वामी और बुद्धिस्ट सोसाइटी ऑफ़ इण्डिया के अध्यक्ष राजरत्न आंबेडकर ने भी किये हैं। list of countries with the highest buddhist population

 

 

#7- दक्षिण कोरिया (2.57 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
दक्षिण कोरिया के सिंहुंगसा मंदिर (Sinheungsa Temple) में सुंदर कांस्य बुद्ध प्रतिमा
  • आधिकारिक नाम : Republic of Korea
  • क्षेत्रफल : 1,00,363 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 5.13 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 2.57 करोड़ (50%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : महायान बौद्ध धर्म

दक्षिण कोरिया पूर्वी एशिया का एक देश है, जो कोरियाई प्रायद्वीप के दक्षिणी भाग का गठन करता है, और उत्तर कोरिया के साथ एक भूमि सीमा साझा करता है। तीन राज्यों (372, या चौथी शताब्दी) की अवधि के दौरान बौद्ध धर्म चीन से कोरिया में प्रवेश किया।

उत्तर-दक्षिण राज्यों की अवधि (698-926) और बाद के गोरियो (918-1392) राज्यों में बौद्ध धर्म का प्रमुख धार्मिक और सांस्कृतिक प्रभाव था। हालांकि, बाद के जोसियन साम्राज्य (1392-1910) में ही कोरियाई कन्फ्यूशीवाद को राज्य की विचारधारा और धर्म के रूप में स्थापित किया गया था, और कोरियाई बौद्ध धर्म का अगले 500 वर्षों तक दमन किया गया था।

कोरियाई बौद्ध धर्म में कई अलग-अलग संप्रदाय हैं। कोरिया में वोन बौद्ध धर्म (Won Buddhism) एक आधुनिक सुधारित बौद्ध धर्म है जो सभी के लिए ज्ञानोदय को संभव बनाने और नियमित जीवन पर लागू करने का प्रयास करता है। Countries with Highest Buddhist Population

 

 

#8- ताइवान (2.18 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
फो गुआंग शान मेमोरियल सेंटर के विशाल बुद्ध (काऊशुंग, ताइवान)
  • आधिकारिक नाम : Republic of China
  • क्षेत्रफल : 36,197 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 2.35 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 2.18 करोड़ (93%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : महायान बौद्ध धर्म

ताइवान पूर्वी एशिया में एक देश है। यह उत्तर-पश्चिम में चीन (पीआरसी) के साथ, और उत्तर-पूर्व में जापान और दक्षिण में फिलीपींस के साथ समुद्री सीमाएँ साझा करता है।

बौद्ध धर्म ताइवान का प्रमुख धर्म है। ताइवान के लोग मुख्य रूप से महायान बौद्ध धर्म, कन्फ्यूशियस विचारधारा, स्थानीय प्रथाएं और ताओवादी परंपरा का पालन करते हैं। बौद्ध और ताओवादी दोनों परंपराओं के धार्मिक विशेषज्ञों की भूमिकाएँ विशेष अवसरों पर मौजूद होती हैं जैसे कि बच्चे के जन्म और अंतिम संस्कार के लिए।

ताइवान में लगभग 93% आबादी बौद्ध धर्म को मानती है। ताइवान में अधिकतर लोग बौद्ध धर्म और ताओवाद इन दोनों के एकसाथ अनुयाई होते हैं, और दोनों विचारधाराओं का एकत्रित पालन करते हैं। हालांकि, ताइवान के सरकारी आंकड़े बौद्ध धर्म को ताओवाद से अलग करते हैं, दोनों के लिए लगभग समान संख्या देते हैं।

ताइवान के कई स्व-घोषित “ताओवादी” वास्तव में चीनी पारंपरिक धर्म से जुड़े अधिक समन्वयवादी प्रथाओं का पालन करते हैं जो बौद्ध धर्म पर आधारित है। स्वयंभू बौद्ध भी अधिक स्थानीय धर्मों जैसे कि यिगुआंडाओ के अनुयायी हो सकते हैं, जो कि गुआनिन या मैत्रेय जैसे बौद्ध विभुतियों पर भी जोर देते हैं और शाकाहार का समर्थन करते हैं।

फ़ुज़ियान (Fujian) और ग्वांगडोंग (Guangdong) इन चीनी प्रांतों से बसने वालों द्वारा डच उपनिवेशवाद के युग में बौद्ध धर्म ताइवान में लाया गया था। 1625 से 1663 तक ताइवान को नियंत्रित करने वाले डचों ने बौद्ध धर्म को हतोत्साहित (discourage) किया, क्योंकि उस समय के डच कानून द्वारा मूर्ति पूजा दंडनीय थी।

1662 में, कोक्सिंगा (Koxinga) ने डचों को ताइवान से खदेड़ दिया। उनके बेटे झेंग जिंग (Zheng Jing) ने ताइवान में पहले बौद्ध मंदिर की स्थापना की। इस अवधि के दौरान, बौद्ध धर्म पालन व्यापक नहीं था।

जब 1683 में किंग राजवंश ने ताइवान पर अधिकार कर लिया, तो बड़ी संख्या में बौद्ध भिक्षु फ़ुज़ियान और ग्वांगडोंग प्रांतों से बौद्ध मंदिरों की स्थापना के लिए आए, जो विशेष रूप से बोधिसत्व गुआनिन (Guanyin) को समर्पित थे, और कई अलग-अलग बौद्ध संप्रदाय फले-फूले। हालाँकि, मठवासी बौद्ध धर्म 1800 के दशक तक नहीं आया था। Top 10 highest Buddhist population countries

 

 

#9- कंबोडिया (1.67 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
कंबोडिया की विक्ट्री हिल पर स्थापित बड़ी बुद्ध प्रतिमा
  • आधिकारिक नाम : Kingdom of Cambodia
  • क्षेत्रफल : 1,81,035 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 1.70 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 1.67 करोड़ (98%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : थेरवाद बौद्ध धर्म

कंबोडिया दक्षिण पूर्व एशिया में इंडोचाइनीज प्रायद्वीप के दक्षिणी भाग में स्थित एक देश है, जिसकी सीमा उत्तर पश्चिम में थाईलैंड, उत्तर में लाओस, पूर्व में वियतनाम और दक्षिण-पश्चिम में थाईलैंड की खाड़ी से लगती है। नोम पेन्ह (Phnom Penh) देश की राजधानी और सबसे बड़ा शहर है।

बौद्ध धर्म कंबोडिया का आधिकारिक राज्य धर्म है, और देश की लगभग 98% आबादी द्वारा इसका पालन किया जाता है। दुनिया में अन्य किसी भी देश की तुलना में सर्वाधिक बौद्ध प्रतिशत कंबोडिया में हैं। कंबोडिया में बौद्ध धर्म कम से कम 5वीं शताब्दी से अस्तित्व में है।

अपने प्रारंभिक रूप में यह एक प्रकार का महायान बौद्ध धर्म था। आज, कंबोडिया में बौद्ध धर्म का प्रमुख रूप थेरवाद बौद्ध धर्म है। थेरवाद बौद्ध धर्म कंबोडियन संविधान में देश के आधिकारिक धर्म के रूप में निहित है। थेरवाद बौद्ध धर्म 13वीं शताब्दी से (खमेर रूज काल को छोड़कर) कंबोडियन राज्य धर्म रहा है। which country has the highest percentage of buddhist

 

 

#10- श्रीलंका (1.56 करोड़ बौद्ध)

Countries with Highest Buddhist Population
पोलोन्नारुवा के रास्ते में गिरितले वेवा टैंक (जलाशय) के तट पर सेना द्वारा स्थापित की गई एक खड़ी बुद्ध प्रतिमा, श्रीलंका 
  • आधिकारिक नाम : Democratic Socialist Republic of Sri Lanka
  • क्षेत्रफल : 65,610 वर्ग किलोमीटर
  • जनसँख्या : 2.22 करोड़
  • बौद्ध जनसँख्या : 1.56 करोड़ (70.2%)
  • प्रभावशाली बौद्ध पंथ : थेरवाद बौद्ध धर्म

श्रीलंका दक्षिण एशिया का एक द्वीप देश है। यह हिंद महासागर में, बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम में और अरब सागर के दक्षिण-पूर्व में स्थित है; यह मन्नार की खाड़ी और पाक जलडमरूमध्य द्वारा भारतीय उपमहाद्वीप से अलग है। थेरवाद बौद्ध धर्म श्रीलंका का सबसे बड़ा और आधिकारिक धर्म है, जो 70.19 प्रतिशत आबादी द्वारा पालन किया जाता है।

श्रीलंका सबसे पुराने पारंपरिक बौद्ध देशों में से एक है। श्रीलंका के संविधान के अनुच्छेद 9 के तहत बौद्ध धर्म को सबसे प्रमुख स्थान दिया गया है, जिसे बौद्ध धर्म की स्थिति को औपनिवेशिक युग से पहले की स्थिति में वापस लाने के प्रयास के रूप में देखा जा सकता है। श्रीलंकाई बौद्ध धर्म के अनुयायी बहुसंख्यक सिंहली आबादी के साथ-साथ अल्पसंख्यक जातीय समूहों में भी पाए जा सकते हैं।

तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में बौद्ध धर्म की शुरुआत के बाद से श्रीलंका बौद्ध प्रथाओं का केंद्र रहा है। श्रीलंका के अधिकांश राजाओं ने द्वीप के बौद्ध संस्थानों के रखरखाव और पुनरुद्धार में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। 19वीं शताब्दी के दौरान, द्वीप पर एक आधुनिक बौद्ध पुनरुत्थान हुआ जिसने बौद्ध शिक्षा को बढ़ावा दिया। Countries with Highest Buddhist Population

 

वैशिष्ट्य

इन 10 देशों में से 5 देशों में महायान बौद्ध धर्म का प्रभाव है तथा 4 देशों में थेरवाद बौद्ध संप्रदाय प्रचलित है, और बचे एक भारत देश में नवयान बौद्ध धर्म प्रभावशाली है। 10 में से 9 देश ऐसे हैं जहां बौद्ध धर्मावलंबी बहुमत में हैं, और एक ही भारत देश ऐसा है जहां बौद्ध धर्म अल्पसंख्यक हैं। भूटान और मंगोलिया जैसे वज्रयान बौद्ध-बहुल देशों को उनकी छोटी बौद्ध आबादी के कारण इस सूची में शामिल नहीं किया जा सका।

 

सारांश

दोस्तों आज की पोस्ट में आपने सबसे अधिक आबादी वाले बौद्ध देशों (Countries with Highest Buddhist Population) के बारे में जाना। टिप्पणियों में, हमें बताएं कि आपको यह बौद्ध धर्म से जुड़ी जानकारी (buddha dharma information in hindi) कैसी लगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें।


सन्दर्भ —


Top 10 Buddhist Populations in 2021 – Countries with Highest Buddhist Population

Top 10 highest Buddhist population countries


ये भी पढ़ें —


(धम्म भारत के सभी अपडेट पाने के लिए आप हमें फेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

2 thoughts on “दुनिया के 10 सबसे बड़ी बौद्ध आबादी वाले देश | Top 10 Countries with Highest Buddhist Population

  1. Information of chinese population is totally wrong. only 13-16% percent of chinese are buddhist majority of them found in Tibet region.

    1. यह पूरा सच नहीं है। अधिकांश चीनी लोगों की जीवन पद्धति पर बौद्ध धर्म का गहरा प्रभाव है। चीन में बौद्ध धर्म (Buddhism) और चीनी लोक धर्म (Chinese folk religions) प्रभावशाली है, और चीनी लोक धर्मों में चीनी बौद्ध धर्म (Chinese Buddhism) भी शामिल है। अगर हम बौद्ध धर्म और चीनी बौद्ध धर्म इन दोनों को एक साथ मिला दे तो इन्हें मानने वालों की संख्या चीन में 50% से अधिक है। वैसे आपको बता दें कि चीन के ग्रामीण जीवन पर (किसी अन्य के मुकाबले) बौद्ध धर्म का सबसे ज्यादा प्रभाव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.