डॉ. भीमराव आंबेडकर के कितने भाई-बहन थे?

लोग अक्सर यह जानना चाहते हैं कि डॉ. भीमराव आंबेडकर के कितने भाई थे? हम सभी जानते हैं की डॉ बाबासाहेब आंबेडकर अपने माता-पिता की 14वी एवं अंतिम संतान थे। इस लेख में हम जानेंगे कि बाबासाहब के कितने भाई और बहनें थी। (how many siblings did br ambedkar have)

लेकिन क्या आप जानते हो कि इन बाबासाहेब के माता पिता की 14 संतानों में से केवल 7 ही जीवित बचे थे बाकी 7 की मृत्यु बचपन में ही हो गई थी?

 

डॉ. भीमराव आंबेडकर के कितने भाई बहन थे?

भीमराव अंबेडकर के कितने भाई थे – डॉ. भीमराव आंबेडकर के 2 भाई थे और 4 बहनें थी। बाबासाहब आंबेडकर की पिताजी का नाम रामजी मालोजी आंंबेडकर (सकपाल) था, तथा उनकी माता का नाम भीमाबाई था।

लोग अक्सर उनकी माता का नाम “भीमाई” पुकारते हैं, जिसे ‘भीमा’ और ‘आई’ (माता) को एकत्रित कर लिखा और बोला जाता है। भीमाई का मतलब है ‘माता भीमाबाई’ हैं।

BR Ambedkar siblings – डॉ. बाबासाहेब आंंबेडकर अपने माता-पिता की 14वीं और अंतिम संतान थे। यानी बाबासाहब को कुल 13 भाई-बहन थे, जिनमें से 7 की बचपन में मृत्यु हो गई थी। बचे हुए 7 बच्चों में तीन लड़के (बाबासाहब और उनके दो भाई) और 4 लड़कियां (बाबासाहब की बहनें) थी।

BR Ambedkar brothers – डॉ. भीमराव आंबेडकर के 2 भाइयों के नाम इस प्रकार है – बाळाराम रामजी आंबेडकर और आनंदराव रामजी आंबेडकर

बाबासाहब की चार बहनों के नाम इस प्रकार है – गंगाबाई लाखावडेकर, रमाबाई माळवणकर, मंजुळा येसू पंदिरकर, और तुळसा धर्मा कांतेकर।

अगर हम इन 7 भाई-बहनों का (बड़े से छोटे) क्रम लगाए तो वह नाम इस प्रकार होंगे – बाळाराम, गंगाबाई, रमाबाई, आनंदराव, मंजुळा, तुळसा, और भीमराव।

बचपन में डॉ. बाबासाहब आंबेडकर का नाम भीम, भीमा, भिवा एवं भीमराव था।

रामजी आंबेडकर को भीमाबाई से 14 संताने हुई थी। भीमाबाई की मृत्यु के बाद बाबासाहब के पिता ने जीजाबाई से दूसरी शादी की। जीजाबाई भीमराव आंबेडकर की सौतेली मां थी। जीजाबाई को कोई संतान नहीं हुई।

आनंदराव रामजी आंबेडकर के प्रपोत्र (great grandson) राजरत्न आंबेडकर हैं, जो बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष हैं।

अब तो आप जान गए होंगे की डॉ भीमराव अंबेडकर के कितने भाई थे

भीमराव अंबेडकर के कितने भाई थे – 2

यह भी पढ़ें

 

‘धम्म भारत’ पर मराठी, हिंदी और अंग्रेजी में लेख लिखे जाते हैं :


दोस्तों, धम्म भारत के नए लेख की सूचना पाने के लिए नीचे दाईं ओर लाल घंटी आइकन पर क्लिक करें।

(धम्म भारत के सभी अपडेट पाने के लिए आप हमें फेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.