इन वजहों से सम्राट अशोक बने ‘महानतम शासक’

चक्रवर्ती सम्राट अशोक से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी एवं रोचक तथ्य आज हम इस लेख के माध्यम से जानने वाले हैं। अशोक की लोकप्रियता का विवरण भी आपको मिलेगा… ashoka in hindi

Ashoka is the most famous Indian ruler
सम्राट अशोक भारत के सबसे प्रसिद्ध एवं महानतम व्यक्तित्वों में तीसरे स्थान पर है

2327 वीं अशोक जयंती : सम्राट अशोक की गिनती दुनिया के महानतम शासक में होती हैं। उन्हें न केवल भारत बल्कि दक्षिण एशिया का सर्वश्रेष्ठ शासक माना जाता है।

सम्राट अशोक दुनिया के ऐसे शासकों में अग्रणी माने जाते हैं जिन्होंने अस्पतालों के निर्माण, सड़कों के किनारे पेड़ लगाना, कुएं खुदवाना तथा टिकने के ठिकाने बनाना आदि सार्वजनिक उपयोग के कामों का राज्य की तरफ से शुरू किया; जिनकी सार्वजनिक तर्कशीलता के प्रति प्रतिबद्धता जबरदस्त थी आर ईसापूर्व दो सौ साल पहले उन्होंने दुनिया की पहली आम सभाएं बुलाईं, जिन्हें शेष दुनिया भी महान सम्राटों की फेहरिस्त में शुमार करती है।

अपनी किताब ‘ए शार्ट हिस्ट्री ऑफ़ द वर्ल्ड’ में लेखक एच.जी. वेल्स सम्राट अशोक को ‘ग्रेटेस्ट ऑफ़ किंग्स‘ यानी राजाओं में सबसे महान बताते हैं।

 

सम्राट अशोक की लोकप्रियता : ऐतिहासिक लोकप्रियता सूचकांक (HPI) 2022 के अनुसार, सम्राट अशोक सबसे प्रसिद्ध भारतीय राजाओं में प्रथम स्थान पर है। उनके बाद बादशाह अकबर और छत्रपति शिवाजी हैं। (सूची देखें)

सबसे प्रसिद्ध भारतीय व्यक्तित्वों में, अशोक महान तीसरे स्थान पर हैं। उनसे पहले गौतम बुद्ध और महात्मा गांधी हैं। (सूची देखें)

1. बुद्ध (HPI: 90.82)
2. गांधी (HPI: 88.49)
3. अशोक (HPI: 82.44)

विकिपीडिया पर अशोक महान की जीवनी 150 विभिन्न भाषाओं में उपलब्ध है। उनसे पहले भगवान बुद्ध (201), महात्मा गांधी (193), और रवींद्रनाथ टैगोर (158) हैं।

ashoka history hindi : अशोक महान का जन्म ईसा पूर्व 304 में पाटलिपुत्र में हुआ था, तथा उनकी मृत्यु ईसा पूर्व 232 में हुई थी। करीब 72 वर्ष अशोक जीवित रहे। यानी आज (2023) से करीब 2,327 साल पहले अशोक का जन्म हुआ था।

अशोक महान ने 40 साल शासन किया (ईसा पूर्व 273 से 232)। उनके दादा तथा मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चंद्रगुप्त ने 24 साल तथा उनके पिता बिंदुसार ने 25 साल शासन किया।

 

अशोक महान के मौर्य साम्राज्य का कुल क्षेत्रफल 50 से 52 लाख वर्ग किलोमीटर था, और यह भारतीय इतिहास में अब तक का सबसे विशाल साम्राज्य रहा है। आज का भारत और भारतीय उपमहाद्वीप क्षेत्रफल की तुलना में मौर्य साम्राज्य से बहुत छोटे हैं।

 

भारत गणराज्य का क्षेत्रफल 32.74 लाख वर्ग किलोमीटर है। साथ ही भारतीय उपमहाद्वीप (अखंड भारत) का क्षेत्रफल 44.44 लाख वर्ग किमी है। मौर्य साम्राज्य का क्षेत्रफल वर्तमान समय के दक्षिण एशिया (51 लाख वर्ग किमी) जितना बड़ा था।

आज का भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और अफगानिस्तान मौर्य साम्राज्य का हिस्सा थे।

 

ashoka in hindi : सम्राट बिंदुसार के शासनकाल में 18 साल की उम्र में राजकुमार अशोक को अवंती का राज्यपाल बनाया गया था। अवंती उज्जैन का ही एक प्रांत था।

 

अशोक सम्राट ने 84 हजार बौद्ध स्तुपों को एवं मंदिरों का निर्माण किया। इसके माध्यम से उन्होंने बौद्ध धर्म का प्रचार व प्रसार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

 

ईसा पूर्व पूर्व 298 में सम्राट चंद्रगुप्त का निधन हुआ उस समय अशोक महज 6 वर्ष के थे।

 

भिक्षु उपगुप्त ने अशोक को बौद्ध धर्म की दीक्षा दी थी। उसके बाद अशोक बौद्ध उपासक बने।

 

विभिन्न स्रोतों में अशोक की पांच पत्नियों का उल्लेख है: देवी (या वेदिसा-महादेवी-शाक्यकुमारी), करुवकी, असंधिमित्रा, पद्मावती, और तिष्यरक्षिता।

 

अशोक के शासनकाल में 23 विश्वविद्यालयों का निर्माण किया गया था जिनमें नालंदा, तक्षशिला, विक्रमशिला, कंधार आदि विश्वविद्यालय प्रमुख थे।

 

अशोक विद्वान भी थे और दार्शनिक भी। उन्होंने सलाह देने के लिए एक मंत्रिमंडल भी बनाया था, क्योंकि कभी राजा द्वारा प्रजा के अहित में फैसला ना हो।

 

अशोक महान विजनरी थे। उन्होंने सब भावपूर्ण और समृद्ध समाज बनाने के लिए अथक काम किया।

अशोक सम्राट बौद्ध धर्म के अनुयाई थे साथ ही वह सभी धर्मों का सम्मान भी करते थे। उन्होंने अपने शासनकाल में सभी धर्मों को उनके प्रचार प्रसार के लिए खुली छूट दी थी।

 

अशोक महान बेहतरीन सेनानायक भी थे। मौर्य साम्राज्य का सबसे ज्यादा विस्तार अशोक के शासनकाल में हुआ है। अशोक अपने जीवन काल में एक भी युद्ध नहीं हारे।

ईसा पूर्व 260 में हुए कलिंग युद्ध को उनके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण युद्ध माना जाता है। इस युद्ध में भारी नरसंहार को देखते हुए उनके मन में हिंसा के प्रति घृणा उत्पन्न हुई, और उन्होंने आगे कभी भी युद्ध ना करने का फैसला लिया।

 

ashoka hindi : अशोक बुद्धिमान शासक थे उन्होंने अपनी प्रजा के हित में कई काम किए। समझदार अशोक ने अपने राज्य में प्रशासनिक और सामाजिक सुधार किए, उनसे पहले शायद ही किसी शासक ने किए हो।

अशोक को बौद्ध धर्म के सबसे बड़े संरक्षक के रुप में माना जाता है। उन्होंने स्वयं बौद्ध धर्म अपनाया और उसे मौर्य साम्राज्य का राजधर्म भी बनाया। उन्होंने कभी भी अपने प्रजा पर बौद्ध धर्म नहीं थोपा‌, लेकिन अपने महान पिता समान राज्य का अनुकरण करते हुए लगभग सभी प्रजा जन बौद्ध बन गए।

अशोक के पहले और बाद में कई सारे राजा, महाराजा, एवं सम्राट हुए लेकिन जितना प्रभाव अशोक ने छोड़ा उतना किसी और ने नहीं। अशोक ने मौर्य विरासत का संरक्षण किया, विभिन्न जगहों पर स्तंभ खड़े किए।

अशोक सम्राट ने अपने प्रजा को अपने बच्चों की तरह प्यार किया, उनके हित में काम किए। इसलिए जनता को सम्राट अशोक पसंद थे। ‘चंड अशोक’ से ‘धम्म अशोक’ के रूप में अशोक ने खुद को बदला इसलिए वह प्रजा का प्यार और सम्मान हासिल कर सके।

अशोक न केवल बौद्ध उपासक थे बल्कि वह एक बौद्ध भिक्षु भी थे। हालांकि उन्होंने कभी भी अपने राजकीय दायित्व से मुंह नहीं फेरा।

आज अशोक का चार शेर वाला सिंह स्तंभ गणराज्य भारत का राज चिन्ह है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के मध्य में भी अशोक चक्र को स्थान दिया गया है।

सभी भारतीय नोटों पर सम्राट अशोक का सिंह स्तंभ चित्रित है। भारत का सर्वोच्च सैन्य पुरस्कार अशोक चक्र इस महानतम शासक के नाम पर है।

भारत तथा दुनिया के कई विद्वानों द्वारा अशोक को बुद्ध के बाद सबसे महान एवं सबसे प्रसिद्ध भारतीय व्यक्तित्व माना जाता है।


FAQs 

1. सम्राट अशोक का धर्म क्या था?
सम्राट अशोक बौद्ध धर्म के अनुयाई थे।

2. दुनिया का सबसे बड़ा सम्राट कौन था?
कई इतिहासकारों के अनुसार, अशोक दुनिया का सबसे बड़ा सम्राट था।

3. सम्राट अशोक कहाँ के राजा थे?
अशोक मौर्य साम्राज्य के राजा थे, जो संपूर्ण भारतीय उपमहाद्वीप में फैला था।

4. सम्राट अशोक के वंशज कौन है?
पुत्र महेन्द्र, कुणाल (धर्मविवर्धन), तीवर, पुत्री संघमित्रा और चारुमती यह सभी सम्राट अशोक के वंशज थे।

5. अशोक ने बौद्ध धर्म को अपनाया क्यों?
कलिंग युद्ध में हुई क्षति तथा नरसंहार को देखकर अशोक के मन में युद्ध के प्रति घृणा उत्पन्न हुई और उन्होंने महान बौद्ध धर्म का स्वीकार किया।

6. अशोक सम्राट किसकी पूजा करते थे?
अशोक भगवान बुद्ध के उपासक थे।

7. अशोक का दूसरा नाम क्या है?
अशोक महान को ‘देवानांप्रिय अशोक’ (राजा प्रियदर्शी देवताओं का प्रिय) भी कहा जाता है।

8. अशोक महान क्यों है?
अशोक सम्राट को अपनी प्रजा के हित में किए गए महत्वपूर्ण कामों के कारण तथा शांति और करुणा पर आधारित उनके आदर्श शासन के कारण महान कहा जाता है। उन्होंने एक केंद्रीकृत प्रशासन के तहत सांस्कृतिक रूप से विविध प्रांतों को एकजुट करने में भूमिका निभाई।

9. भारत का सबसे बड़ा योद्धा कौन था?
भारत का सबसे बड़े योद्धा अशोक सम्राट थे।

10. इतिहास में सबसे अच्छा सम्राट कौन था?
अशोक महान को भारतीय इतिहास में सबसे अच्छा सम्राट माना जाता है।

11. अशोक के बाद भारत पर किसने शासन किया?
अशोक के बाद भारत पर सम्राट दशरथ मौर्य ने शासन किया। दशरथ मौर्य सम्राट अशोक के पौत्र थे।

12. अखंड भारत का राजा कौन था?
अखंड भारत का राजा अशोक महान था।

 


यह भी पढ़े 

 

‘धम्म भारत’ पर मराठी, हिंदी और अंग्रेजी में लेख लिखे जाते हैं :


दोस्तों, धम्म भारत के नए लेख की सूचना पाने के लिए नीचे दाईं ओर लाल घंटी आइकन पर क्लिक करें।

(धम्म भारत के सभी अपडेट पाने के लिए आप हमें फेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *